सहारनपुर के देवबंद की रहने वाली क्लास-7 की छात्रा से तीन लोगों ने सालभर धमका कर गैंगरेप किया। स्कूल आते-जाते समय आरोपी उसे डरा-धमका कर रास्ते से उठा लेते। एक घर में ले जाकर कोल्ड ड्रिंक पिलाकर बेहोश कर रेप करते थे। धमकी दी कि अगर किसी को बताया तो तुम्हारी बहन और ताऊ-ताई को मार डालेंगे। इससे वह डर गई। डर की वजह से छात्रा ने स्कूल जाना छोड़ दिया। अब जब परिजन दोबारा स्कूल भेजने की कोशिश करने लगे तो छात्रा ने आपबीती सुनाई। फिर परिवार के लोगों ने थाने पर शिकायत की है। माता-पिता की 5 साल पहले हो चुकी थी मौत
देवबंद में 12 साल की छात्रा सरकारी स्कूल में कक्षा 7 में पढ़ती है। उसके माता-पिता का 5 साल पहले निधन हो गया था। उसकी दो बहन और हैं। पीड़िता के ताऊ तीनों लड़कियों का पालन-पोषण करते हैं। छात्रा के ताऊ के मुताबिक, गांव में रहने वाले एक आरोपी का उनके घर पर आना जाना था। वह छात्रा पर गलत निगाह रखता था। उनके घर आने वाला व्यक्ति ऐसा निकल जाएगा, पता नहीं था। नशीली कोल्ड ड्रिंक पिलाकर बेहोश किया
पीड़िता ने बताया कि पिछले साल अक्टूबर में दोनों आरोपी बाइक से जा रहे थे। छात्रा भी उसी रास्ते से जा रही थी। आरोपी छात्रा को बहला-फुसला कर देवबंद शुगर मिल की तरफ बाईपास रोड पर नूरपुर में एक मकान में ले गए। जहां आरोपियों ने मकान मालिक के साथ मिलकर उसको कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया। जिसके बाद छात्रा बेहोश हो गई। बेहोश कर तीनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। रेप का ये सिलसिला एक साल तक चला। बहन और ताऊ-ताई की हत्या की धमकी से डरी थी
पीड़िता ने बताया कि दुष्कर्म के बाद आरोपी उसे लाल पुल के पास छोड़ जाते थे। ये धमकी देते थे कि अगर किसी को बताया तो तुम्हारी बहन और ताऊ-ताई को मार डालेंगे। इस वजह से मैं डरी हुई थी। किसी को बताया नहीं। एक साल से तीनों मेरे साथ रेप कर रहे थे। तीन लोगों से तंग आकर पढ़ाई छोड़ दी पीड़िता ने बताया कि स्कूल स्टाफ ने पढ़ाई छोड़ने का कारण पूछा। तब भी मैंने नहीं बताया। स्कूल छोड़ने की बात जब परिवार के लोगों को पता लगी। तब उन्होंने पढ़ाई छोड़ने और स्कूल न जाने का कारण पूछा। इस पर वह टूट गई, और उसने ताई-ताऊ को रो-रोकर सब बता दिया। थाने में शिकायत की तो नहीं हुई कार्रवाई
पीड़िता का आरोप है कि जब यह घटना परिवार के लोगों को बताई तो वह उसे लेकर थाने पहुंचे। थाने में तहरीर दी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद परिजन पीड़िता को लेकर एसएसपी डॉ.विपिन ताडा के पास पहुंचे। एसएसपी ने मामले की जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। आरोपियों में से एक जिले का टॉप-10 बदमाश है। पीड़िता ने बताया कि वह दो आरोपियों के नाम जानती है, लेकिन तीसरे को सामने आने पर पहचान लेगी।

By

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe for notification