बाहुबली धनंजय सिंह बरेली सेंट्रल जेल से रिहा हो गए हैं। बुधवार को जेल से निकलते ही उन्होंने कहा- फर्जी मुकदमे में सजा हुई थी, हाईकोर्ट ने मुझे बेल दी है। मेरी पत्नी चुनाव लड़ रही हैं, सीधे अपने क्षेत्र में प्रचार करने जाऊंगा। 4 दिन पहले उन्हें बरेली जेल में शिफ्ट किया गया था। उसी दिन धनंजय को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत भी दे दी थी। कोर्ट का यह फैसला तब आया था, जब जौनपुर पुलिस धनंजय को लेकर बरेली के लिए निकल चुकी थी। रास्ते में ही थे, तभी उनकी जमानत की खबर आ गई थी। हालांकि, हाईकोर्ट ने धनंजय की 7 साल की सजा पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। इंजीनियर अभिनव सिंघल अपहरण कांड, 7 साल की सजा
धनंजय को इंजीनियर अभिनव सिंघल के अपहरण-रंगदारी मामले में MP-MLA कोर्ट ने 6 मार्च को 7 साल की सजा सुनाई थी। नमामि गंगे के प्रोजेक्ट मैनेजर ने 10 मई 2020 को जौनपुर के लाइन बाजार थाने में धनंजय सिंह और उनके साथियों के खिलाफ रंगदारी, अपहरण की संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। इंजीनियर ने कहा था कि धनंजय अपने साथी विक्रम के साथ पिस्टल लेकर आए और जबरन रंगदारी मांगी। 27 साल की उम्र में पहली बार धनंजय सिंह विधायक बने
धनंजय सिंह 27 साल की उम्र में जौनपुर की रारी विधानसभा सीट से पहला चुनाव लड़ा और जीता था। 2007 भी में इसी सीट से जेडीयू के टिकट पर जीते। 2009 में बसपा के टिकट पर सांसद भी बने। वे अब तक 2 बार विधायक और 1 बार सांसद रहे हैं। 2011 में उन्हें बसपा से निकाला गया। 2012 में धनंजय की पहली पत्नी जागृति को मल्हनी विधानसभा सीट से चुनाव लड़वाया लेकिन हार गए। धनंजय ने 2017 में निषाद पार्टी के टिकट पर, 2020 में निर्दलीय और 2022 में जेडीयू के टिकट पर चुनाव लड़ा लेकिन तीनों बार हार का सामना करना पड़ा। 2014 में धनंजय ने लोकसभा चुनाव निर्दलीय लड़ा, लेकिन हार गए। 2019 में वे चुनाव नहीं लड़े। 2024 में चुनाव की पूरी तैयारी थी लेकिन उन्हें 7 साल की जेल हो गई। इससे वे चुनाव लड़ने में अयोग्य हो गए। अब पत्नी को बसपा ने टिकट दिया है। धनंजय सिंह पर 10 मुकदमे पेंडिंग 15 साल की उम्र में पहला मुकदमा धनंजय पर दर्ज किया गया, तब से अब तक धनंजय सिंह पर पहले 43 मुकदमे दर्ज हुए थे, जो अब घटकर 10 रह गए हैं। इनमें से 8 केस जौनपुर जिले में दर्ज हैं। जबकि एक केस दिल्ली के चाणक्यपुरी थाने और एक केस लखनऊ के विभूति खंड थाने में दर्ज है। कुल 6 मामलों में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की। 3 मामलों में ही धनंजय पर आरोप तय हो पाए। एक केस में उन्हें अब तक सजा मिली है, जिसमें वे 6 मार्च से जेल में बंद है। ये भी पढ़ें- बाहुबली धनंजय सिंह को हाईकोर्ट ने दी जमानत:जौनपुर से बरेली जेल शिफ्ट कर रहे थे, रास्ते में आया फैसला; पत्नी बोली- हत्या का डर जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जमानत दे दी। यह फैसला शनिवार को तब आया, जब जौनपुर पुलिस धनंजय को लेकर बरेली के लिए निकल चुकी थी। रास्ते में ही थे, तभी उनकी जमानत की खबर आ गई। पढ़ें पूरी खबर

By

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe for notification