लखनऊ के आलमबाग इलाके में बुधवार को रेलवे कर्मचारी ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी। घटना के वक्त वो घर में अकेले थे। पत्नी और बच्चे राजस्थान में दादा-दादी के घर गए थे। मौके से कोई सुसाइड नोट न मिलने से आत्महत्या की वजह का पता नहीं चल पाया है। जानकारी के मुताबिक मेंहदीपुर बालाजी के रहने वाले लोकेश कुमार मीणा (32) पुत्र रोशन लाल मीणा लखनऊ में रेलवे वर्कशॉप में नौकरी करते थे। लोकेश को आलमबाग के रेलवे कॉलोनी में आवास मिला था। जहां वो अपनी पत्नी और बच्चों के साथ रहते थे। मंगलवार को घर में अकेले थे। तभी घर में फांसी का फंदे लटककर आत्महत्या कर ली। घर में शादी में शामिल हुए लेकिन तनाव का पता नहीं चला
लोकेश के बड़े भाई बताते हैं कि मंगलवार को शाम 7 बजे के करीब उन्हें हादसे की सूचना मिली। घरवाले काफी फोन कर रहे थे। रिसीव न होने पर दोस्तों को देखने के बोला। वो घर जाकर देखे तो वो फंदे से लटके मिले। साथ ही बताया कि दो बच्चे हैं एक 14 साल का लड़का है और 9 साल की लड़की। 23 अप्रैल को परिवार के साथ शादी अटेंड करने राजस्थान अपने घर आए थे। इसके बाद परिवार को वहीं छोड़ दिया और अकेले लखनऊ आ गए। उस दौरान जब मिले थे तो बिल्कुल भी ऐसा नहीं लग रहा था कि किसी चीज को लेकर परेशान हैं। पता नहीं ऐसा कदम क्यों उठाया। इसकी कोई जानकारी नहीं है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। फिलहाल पोस्टमार्टम करवाकर शव को परिजनों को सौंप दिया है।

By

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Subscribe for notification